pratilipi-logo प्रतिलिपि
हिन्दी
Pratilipi Logo
राजेन्द्र लहरिया-कहानी-यहाँ कुछ लोग 1
राजेन्द्र लहरिया-कहानी-यहाँ कुछ लोग 1

राजेन्द्र लहरिया-कहानी-यहाँ कुछ लोग 1

राज बोहरे - राजेन्द्र लहरिया की कहानी "यहाँ कुछ लोग थे" एक ऐसे समाज की कहानी है जिसमें जातिवादी व्यवस्था का बर्चस्व और उसको चुनौती देते लोग है, अन्जाम के लिए कहानी पढ़िए... जेन्द्र लहरिया कहानी ...

10 മിനിറ്റുകൾ
पढ़ने का समय
4+
लोगों ने पढ़ा
library लाइब्रेरी
download डाउनलोड करें

Chapters

1.

राजेन्द्र लहरिया-कहानी- यहाँ कुछ लोग थे १

4 0 10 മിനിറ്റുകൾ
29 മെയ്‌ 2021