pratilipi-logo प्रतिलिपि
हिन्दी
Pratilipi Logo
सुनसान सड़क
सुनसान सड़क

‍‍रात्रि होते ही कोई भी मर्द उस सड़क से होकर नहीं जाता, क्योंकि जो भी उस सड़क से होकर निकलता है, वह जिन्दा वापस नहीं लौटता । आज भी एक रूह उस सड़क पर कभी भी, कहीं भी टहलते हुए मिल जाया करती है। ...

4.5
(57)
12 मिनट
पढ़ने का समय
3916+
लोगों ने पढ़ा
library लाइब्रेरी
download डाउनलोड करें

Chapters

1.

सुनसान सड़क

1K+ 4.8 7 मिनट
16 अक्टूबर 2021
2.

सुनसान सड़क - 2

1K+ 5 3 मिनट
17 अक्टूबर 2021
3.

सुनसान सड़क - 3

1K+ 4.2 3 मिनट
21 अक्टूबर 2021