pratilipi-logo प्रतिलिपि
हिन्दी
Pratilipi Logo
शह और मात
शह और मात

शह और मात

सहसा विश्वास ही नहीं हुआ कि शालू आ रही है ,वही शालू जिसने उसके 1 वर्ष के वैवाहिक जीवन का सारा आकर्षण चुरा लिया। तुषार और उसके बीच शालू नाम का कांटा उसे बेहद चुभता रहा। आज वह खुद देखना चाहती थी ...

4.9
(49)
10 मिनट
पढ़ने का समय
1557+
लोगों ने पढ़ा
library लाइब्रेरी
download डाउनलोड करें

Chapters

1.

शह और मात

542 5 3 मिनट
02 नवम्बर 2022
2.

शह और मात... 2 💕💕💕

502 5 4 मिनट
03 नवम्बर 2022
3.

शह और मात ....3 💕💕💕

513 4.8 2 मिनट
03 नवम्बर 2022