pratilipi-logo प्रतिलिपि
हिन्दी
Pratilipi Logo
हर किसी को इश्क नसीब नहीं होता
हर किसी को इश्क नसीब नहीं होता

हर किसी को इश्क नसीब नहीं होता

प्रतिलिपि अवार्ड्स

दोस्तों यह कहानी हमारे समाज की है हमारे परिवार की है । आज भी एक औरत को कितनी बदनसीबयां झेलनी पड़ती है,, सारे रिश्तों का बोझ एक स्त्री पर ही होता है,,,, मायका हो या ससुराल अगर पति अच्छा नहीं है तो ...

4.8
(70)
21 মিনিট
पढ़ने का समय
2093+
लोगों ने पढ़ा
library लाइब्रेरी
download डाउनलोड करें

Chapters

1.

हर किसी को इश्क नसीब नहीं होता

341 5 2 মিনিট
25 অগাস্ট 2022
2.

हर किसी को इश्क नसीब नहीं होता

277 4.7 2 মিনিট
26 অগাস্ট 2022
3.

हर किसी को इश्क नसीब नहीं होता

251 4.8 5 মিনিট
03 সেপ্টেম্বর 2022
4.

हर किसी को इश्क नसीब नहीं होता

इस भाग को पढ़ने के लिए ऍप डाउनलोड करें
locked
5.

हर किसी को प्यार नसीब नहीं होता

इस भाग को पढ़ने के लिए ऍप डाउनलोड करें
locked
6.

हर किसी को इश्क नसीब नहीं होता

इस भाग को पढ़ने के लिए ऍप डाउनलोड करें
locked
7.

हर किसी को इश्क नसीब नहीं होता

इस भाग को पढ़ने के लिए ऍप डाउनलोड करें
locked
8.

हर एक को इश्क नसीब नहीं होता

इस भाग को पढ़ने के लिए ऍप डाउनलोड करें
locked