pratilipi-logo प्रतिलिपि
हिन्दी

वो आंखें ही है जो मौत देख सकती है

5
10

सुख दुख का गवाह वो बन जाती है। हर तुफां की भागीदारी भी हो जाती है। जिंदगी के हर पहलू को वो जूझ सकती है। वो आंखें ही है जो मौत देख सकती है। हर आंसुओं की संगिनी वो बन जाती है। खुशियों के पलों की भी ...

अभी पढ़ें
लेखक के बारे में

एक कलम ही आपका हुनर पहचानती है

समीक्षा
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    Aditi Tandon
    14 जुन 2020
    अच्छा लिखा है आपने
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    Aditi Tandon
    14 जुन 2020
    अच्छा लिखा है आपने