pratilipi-logo प्रतिलिपि
हिन्दी

सारे मौसम सुहाने हुए!

4.3
1143

सारे मौसम सुहाने हुए! जिंदगी के तराने हुए!!1 सोचती हूँ की उनसे मिलूँ! उन से मिल के ज़माने हुए!!2 हो गए प्यार में कैद वो! इस क़दर वो दिवाने हुए!!3 इश्क छुपता कहाँ है भला! राज़ सारे फ़साने हुए!!4 याद ...

अभी पढ़ें
लेखक के बारे में
author
आभा सक्सेना

मेरा परिचय बस इतना है कि मैं एक कहानीकार ,कवियत्री एवं एक ग़ज़ल कार हूँ ...काफी समय से लिख रही हूँ ......आभा सक्सेना

समीक्षा
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    05 फ़रवरी 2019
    शेष पंक्तियाँ तो सीधे हृदय में उतर गई। बहुत अच्छे।
  • author
    Rittika Saxena "Chintu"
    07 जुलाई 2018
    beautiful.. awesome
  • author
    Akanksha Singh
    26 मार्च 2018
    उत्कृष्ट रचना
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    05 फ़रवरी 2019
    शेष पंक्तियाँ तो सीधे हृदय में उतर गई। बहुत अच्छे।
  • author
    Rittika Saxena "Chintu"
    07 जुलाई 2018
    beautiful.. awesome
  • author
    Akanksha Singh
    26 मार्च 2018
    उत्कृष्ट रचना