pratilipi-logo प्रतिलिपि
हिन्दी

इंटरव्यू

4.6
8498

माता पिता के द्वारा पर्याप्त संस्कार हर क्षेत्र में सहायक होता है साथ ही कुशलता प्रदान करता है।

अभी पढ़ें
लेखक के बारे में

राजेश कुमार कौरव ( सुमित्र) गणित से स्नातकोत्तर , उच्च श्रेणी शिक्षक के पद पर कार्यरत हायर सेकंडरी स्कूल बारहा बड़ा ‌, नरसिंहपुर म.प्र. गीत, कविता,‌लेख, कहानी लिखने का शौक,अनेक क्षेत्रीय एवं राष्ट्रीय पत्र, पत्रिकाओं में ‌प्रकाशित ।

समीक्षा
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    Devendra Kumar Mishra
    25 अप्रैल 2018
    इंटरव्यू या साक्षात्कार का मतलब ही होता है विचारो या भावो को पढ़ना न कि किताबी योग्यता देखना। एक अच्छा मार्गदर्शन।
  • author
    डॉ. पूनम बनर्जी
    22 मार्च 2019
    बहुत खूब. सफाई से तथा व्यवस्थित रहना एक अच्छा गुण है यह सबको सीखना चाहिए. ऐसी कहानी समाज के लिए प्रेरणादायक है.
  • author
    nidhi Bansal "Nidhi"
    19 अगस्त 2018
    शिक्षा को संस्कारो के साथ ग्रहण करना ही सही मायनो मः शिक्षित होना कहलाता है
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    Devendra Kumar Mishra
    25 अप्रैल 2018
    इंटरव्यू या साक्षात्कार का मतलब ही होता है विचारो या भावो को पढ़ना न कि किताबी योग्यता देखना। एक अच्छा मार्गदर्शन।
  • author
    डॉ. पूनम बनर्जी
    22 मार्च 2019
    बहुत खूब. सफाई से तथा व्यवस्थित रहना एक अच्छा गुण है यह सबको सीखना चाहिए. ऐसी कहानी समाज के लिए प्रेरणादायक है.
  • author
    nidhi Bansal "Nidhi"
    19 अगस्त 2018
    शिक्षा को संस्कारो के साथ ग्रहण करना ही सही मायनो मः शिक्षित होना कहलाता है