pratilipi-logo प्रतिलिपि
हिन्दी

होके मजबूर मुझे उसने भुलाया होगा !!!!!

4.7
12589

68वें गौरवशाली गणतंत्र दिवस की आपको शुभकामनाएं ! पर क्या हिंदुस्तान अपने ये गौरव के पल देख पाता अगर अनगिनत जाने-अनजाने सैनिकों ने अपना बलिदान न किया होता ..?और क्या एक सैनिक का बलिदान सिर्फ उसका ...

अभी पढ़ें
लेखक के बारे में
author
मृदुल कपिल

प्रकाशित पुस्तकें : चीनी कितने चम्मच ( कहानी संग्रह ) आँचलिक कहानी संग्रह "कानपुर की घातक कथाएँ 1 " एवं मोहब्बत 24 कैरेट प्रकाशित (कहानी संग्रह ) प्रकाशित . सोशल मिडिया ( फेसबुक , ब्लॉग आदि ) पर निरंतर  लेखन , कुछ समाचारपत्रों और पत्रिकाओ में समय समय पर लेख और कहानियो  का  प्रकाशन .

समीक्षा
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    Hema Jain
    13 दिसम्बर 2017
    kahani padte huye meri aankh me aansu the or dil me sainikon or unke parivar ke liye garv ...bahut sunder rachna 👌
  • author
    Nsaeem bano
    07 फ़रवरी 2017
    कहानी ने आँखों को नम और दिल को घायल कर दिया....!
  • author
    .
    05 जनवरी 2022
    padh k palke bheegna lazmi sa ho gya tha..magar mere bhaijaan ne sikhaya aur kaha h ki kabhi b sainik ki shahadat pe aansoo nhi bahane chahiye..🔥🇮🇳garv h mujhe mere mulk aur is mulk k sainikon pe..🇮🇳🔥🪖 JAI HIND 🇮🇳🔥
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    Hema Jain
    13 दिसम्बर 2017
    kahani padte huye meri aankh me aansu the or dil me sainikon or unke parivar ke liye garv ...bahut sunder rachna 👌
  • author
    Nsaeem bano
    07 फ़रवरी 2017
    कहानी ने आँखों को नम और दिल को घायल कर दिया....!
  • author
    .
    05 जनवरी 2022
    padh k palke bheegna lazmi sa ho gya tha..magar mere bhaijaan ne sikhaya aur kaha h ki kabhi b sainik ki shahadat pe aansoo nhi bahane chahiye..🔥🇮🇳garv h mujhe mere mulk aur is mulk k sainikon pe..🇮🇳🔥🪖 JAI HIND 🇮🇳🔥