pratilipi-logo प्रतिलिपि
हिन्दी

दिल से दिल तक का सफर

4.6
15263

ये उन दिनों की बात हैं जब गर्ल फ्रेंड बॉय फ्रेंड नही होते थे न ही फेसबुक, ओरकुट या दूसरी सोशल साइट्स, न मोबाइल | होते थे या तो अच्छे दोस्त और घर पर लैंडलाइन १९९०, मार्च सुबह ७:४५ का टाइम था, शारदा एक ...

अभी पढ़ें
लेखक के बारे में
author
Dolly Thakur

do din ki hai zindagi..muskura k Gujar do...,,,

समीक्षा
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    Sunita Namdeo
    09 മാര്‍ച്ച് 2018
    amazing nice story
  • author
    'ANJANI TIWARI'🇮🇳
    22 മാര്‍ച്ച് 2018
    😊😊
  • author
    Laxmi Swain
    21 ഒക്റ്റോബര്‍ 2020
    achhi lekin sachhi prem kahani.......
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    Sunita Namdeo
    09 മാര്‍ച്ച് 2018
    amazing nice story
  • author
    'ANJANI TIWARI'🇮🇳
    22 മാര്‍ച്ച് 2018
    😊😊
  • author
    Laxmi Swain
    21 ഒക്റ്റോബര്‍ 2020
    achhi lekin sachhi prem kahani.......