pratilipi-logo प्रतिलिपि
हिन्दी

बचपन की लड़कियां

4.5
1589

बचपन की लड़कियाँ - सुधीर मौर्य ______________________ बचपन मे कुछ लड़कियाँ तितली होती है कुछ चिड़ियाँ कुछ पारियां और कुछ लड़कियां होती है सिरों की बोझ बचपन में कुछ लड़कियों के नाम होते है गुड़िया, बैबी और ...

अभी पढ़ें
लेखक के बारे में
author
सुधीर मौर्य

लेखक की कहानी 'एक बेबाक लड़की की कहानी' को २०१६ में प्रतिलिपि की कहानी प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार से सम्मानित से किया गया था।

समीक्षा
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    04 നവംബര്‍ 2016
    भावनात्मक प्रस्तुति!
  • author
    दिशा रंजन
    27 ജൂലൈ 2017
    Bahut hi kam shabdo me lekhak mahoday bahut kuchh keh gae. Bhayanak satya ko darshati bahut hi umda kavita.
  • author
    Manjit Singh
    29 ഏപ്രില്‍ 2022
    समाज का आइना दिखा दिया,पढ़कर खुशी हुई और आंसू भी बहे,कविता के लिए आपको कोटी कोटी प्रणाम
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    04 നവംബര്‍ 2016
    भावनात्मक प्रस्तुति!
  • author
    दिशा रंजन
    27 ജൂലൈ 2017
    Bahut hi kam shabdo me lekhak mahoday bahut kuchh keh gae. Bhayanak satya ko darshati bahut hi umda kavita.
  • author
    Manjit Singh
    29 ഏപ്രില്‍ 2022
    समाज का आइना दिखा दिया,पढ़कर खुशी हुई और आंसू भी बहे,कविता के लिए आपको कोटी कोटी प्रणाम