pratilipi-logo प्रतिलिपि
हिन्दी
प्र
প্র
പ്ര
પ્ર
ಪ್ರ
பி

14 फरवरी

4.6
1929

सूरज ने किरण को bike पर बैठने का इशारा किया किरण भी बिना कुछ सवाल के bike पर बैठ गई ,bike हवा से बाते करने लगी और किरण सूरज के प्यार में खो कर आकाश में उड़ने लगी तभी सूरज ने अचानक एक जगह पर bike रोक

अभी पढ़ें
लेखक के बारे में
author
Premlata Yadu

आप मेरी कहानियाँ मेरी आवाज़ में PremLata Yadu के नाम से अब you tube पर सुन सकते है ।

समीक्षा
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    Writer
    16 जनवरी 2020
    Excellent writing dramatically very Good
  • author
    Sanant Parihar "Parihar"
    27 जनवरी 2021
    jimmedari ek pal me jindagi ka riukh badal deti he.behatrin rachana.badhai swikare.
  • author
    G Harshit Kumar
    15 फ़रवरी 2019
    bahut achhi lagi
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    Writer
    16 जनवरी 2020
    Excellent writing dramatically very Good
  • author
    Sanant Parihar "Parihar"
    27 जनवरी 2021
    jimmedari ek pal me jindagi ka riukh badal deti he.behatrin rachana.badhai swikare.
  • author
    G Harshit Kumar
    15 फ़रवरी 2019
    bahut achhi lagi