pratilipi-logo प्रतिलिपि
हिन्दी

विलुप्तता

4.5
797

"जोगनिया नदी वाले रास्ते से ही चलना। मुझे नदी देखते हुए जाना है।" रिक्शे पर बैठते ही कौतूहल जगा था । "अरे,जोगनिया नदी ! कितनी साल बाद आई हो बीबी जी? ऊ तो, कब का मिट गई।" "क्या? नदी कैसे मिट सकती है ...

अभी पढ़ें
लेखक के बारे में
author
कांता रॉय

कान्ता रॉय जन्म: दिनांक- 20 जूलाई, 1969, कोलकाता शिक्षा : बी. ए. डिप्लोमा इन डेस्कटॉप पब्लिशिंग (MS Office, quark press, Page maker, Coral graphics Etc) सम्प्रति : प्रवासी भारतीय साहित्य एवं संस्कृति शोध केंद्र, रबीन्द्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय भोपाल में कार्यरत। निदेशक : लघुकथा शोध-केंद्र भोपाल, मध्यप्रदेश प्रधान सम्पादक: लघुकथा वृत्त, मासिक (मई 2018 से प्रारंभ) संस्थापक : अपना प्रकाशन (जनवरी 2018 से प्रारंभ) लेखन की विधाएँ : लघुकथा, कहानी, गीत-गज़ल-कविता और आलोचना अनुभव : पूर्व सहायक निदेशक : दुष्यन्त कुमार स्मारक पाण्डुलिपि संग्रहालय, भोपाल (रबीन्द्रनाथ टैगोरे विश्वविद्यालय द्वारा पदस्थापित) पूर्व प्रशासनिक अधिकारी, मध्यप्रदेश राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, हिंदी भवन, भोपाल पूर्व कोऑर्डिनेटिंग एडिटर, इंद्रा पब्लिकेशन, भोपाल विशेष : 3 मार्च 2022 को हिंदी भवन एवं मानस भवन के लिए राजभवन भोपाल में पीपीटी स्लाइड का प्रस्तुतीकरण पूर्व सहयोगी सम्पादक : अक्षरा, (मध्यप्रदेश राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, हिन्दी भवन भोपाल का प्रकाशन) दिनांक जनवरी 2019 (कहानी विशेषांक) से सितम्बर 2019 पाठ्य पुस्तक में शामिल आलेख : विकास के क्रम में मानव और विज्ञान : कान्ता रॉय, साहित्य तरंग - १ बी.एससी., बी.एच.एससी., बी.एफ.टी., बी.सी.ए. प्रथम सत्र स्नातक हिन्दी (अनिवार्य) पाठ्यपुस्तक कर्नाटक राज्य अक्कमहादेवी महिला विश्वविद्यालय, विजय नगर अन्य : 1.हिंदी लेखिका संघ, मध्यप्रदेश (पूर्व, वेवसाईट विभाग की जिम्मेदारी) 2.ट्रस्टी एवं सचिव- श्री कृष्णकृपा मालती महावर बसंत परमार्थ न्यास। 3.पूर्व सामाचार सम्पादक: सत्य की मशाल (राष्ट्रीय मासिक पत्रिका) 4.इंदौर ‘क्षितिज़’ संस्था की भोपाल प्रतिनिधी 5.कलामंदिर कला परिषद संस्थान में कार्यकारिणी सदस्य निराला सृजन पीठ, भारत भवन, भोपाल एकल लघुकथा-पाठ आकाशवाणी भोपाल से कहानी, लघुकथाएँ प्रसारित, दूरदर्शन से कविताओं का प्रसारण. पुस्तक प्रकाशन : 1.घाट पर ठहराव कहाँ (एकल लघुकथा संग्रह), 2.पथ का चुनाव (एकल लघुकथा संग्रह), 3.अस्तित्व की यात्रा (एकल लघुकथा संग्रह) 4. कागज दा पिंड (पंजाबी में अनुदित लघुकथाएँ} 5.रानो (कहानी संग्रह प्रकाशाधीन) 6.दुखियारी नदियां (कविता संग्रह प्रकाशनाधीन) 7.लघुकथा : मौलिक चिंतन का रहस्य (आलोचना पुस्तक, प्रकाशनाधीन) एवं राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय स्तर के अनेक पत्र-पत्रिकाओं में कहानी (समकालीन भारतीय साहित्य, पुरवाई, साक्षात्कार, कथा समवेत, नारी अस्मिता, अक्षरा), लघुकथा, कविता एवं अन्य साहित्य का निरंतर प्रकाशन सम्पादन : 1.चलें नीड़ की ओर (लघुकथा संकलन), 2.सहोदरी लघुकथा-(लघुकथा संकलन), 3. सीप में समुद्र-(लघुकथा संकलन), 4. बालमन की लघुकथा (लघुकथा संकलन), 5. दस्तावेज -2017-18 (लघुकथा एवम् विमर्श), 6. समय की दस्तक (लघुकथा संकलन), 7.रजत श्रृंखला (लघुकथा संकलन), 8.भारत की प्रतिनिधि महिला लघुकथाकार (लघुकथा संकलन, प्रेस में), 9.लघुकथा-महासंकलन (पटियाला, साहित्य कलश का प्रकाशन), 10. मानवता की लड़ाई (लघुकथा संकलन) अतिथि संपादक- ●1.दृष्टि(अर्धवार्षिक लघुकथा पत्रिका, महिला लघुकथाकारों का अंक), ●2.साहित्य कलश (पटियाला से प्रकाशित त्रैमासिक पत्रिका का लघुकथा विशेषांक) ●3.उर्वशी, रामायण केंद्र (लघुकथा विशेषांक, मासिक पत्रिका, भोपाल) ●4.विशेष सहयोग : साक्षात्कार (साहित्य अकादमी, मध्यप्रदेश संस्कृति परिषद् की पत्रिका} ●5. जगमग दीप ज्योति पत्रिका राजस्थान निर्णायक की भूमिका में : ●साहित्य अकादमी, मध्यप्रदेश संस्कृति परिषद् ●गया प्रसाद खरे खेल, कला एवं साहित्य संवर्धन मंच, भोपाल ●सेतु हिंदी द्वारा प्रायोजित लघुकथा प्रतियोगिता में| ●राज्य स्तरीय कहानी प्रतियोगिता, मध्यप्रदेश ●स्टोरी मिरर, कांटेस्ट लघुकथा प्रतियोगिता, कविता प्रतियोगिता, कहानी प्रतियोगिता ●कलमकार कहानी प्रतियोगिता लघुकथा कार्यशाला में प्रमुख वक्ता : 1. ग्लोबल लिटरेरी फेस्टिवल फिल्म सिटी नोयडा, उ.प्र. में लघुकथा वर्कशॉप में | 2. लघुकथा कार्यशाला करवाया : हिन्दी लेखिका संघ मध्यप्रदेश भोपाल में 2016 | 3. दून फिल्म फेस्टिवल 2017 कहानी सत्र में अतिथि वक्ता| 4. अभिव्यक्ति विश्वम, लखनऊ के तहत ‘एक दिन कान्ता रॉय के साथ’ –2018(लघुकथा कार्यशाला) 5. विश्वरंग 2019 के तहत वनमाली सृजन पीठ के तत्वावधान में आयोजित लघुकथा शोध केंद्र भोपाल मध्यप्रदेश का वृहत आयोजन 6. हिन्दी भवन भोपाल द्वारा लघुकथा प्रसंग 2019-20-21 का आयोजन। 7. 12 फरवरी 2020 में लघुकथा पर कार्यशाला एवं वक्तत्व, भोपाल स्कूल ऑफ सोशल साइंसेज, भोपाल। लघुकथा शोध केंद्र भोपाल द्वारा आयोजित समारोह:- 1.लघुकथा पर्व-2019, हिन्दी भवन, भोपाल में। 2.दिल्ली लघुकथा अधिवेशन-2019, गांधी शांति प्रतिष्ठान, दिल्ली 3. अखिल भारतीय लघुकथा सम्मलेन-2022, सप्रे संग्रहालय, भोपाल ऑनलाइन पंद्रह दिवसीय पुस्तक पखवाड़ा लघुकथा शोध केंद्र भोपाल का उपक्रम ‘अपना प्रकाशन’ द्वारा ●1 जनवरी से 15 जनवरी तक वर्ष 2021 में पंद्रह दिवसीय जिसमें 90 अतिथि लेखकों ने विभिन्न विधाओं की 26 पुस्तकों पर विस्तार से चर्चा की गयी| ●1 फ़रवरी से 17 फ़रवरी तक वर्ष 2022 में आयोजित सत्रह दिवसीय ऑनलाइन पुस्तक पखवाड़ा समारोह में 98 अतिथि लेखकों द्वारा विभिन्न विधाओं की 30 पुस्तकों पर विस्तार से चर्चा की गयी| लघुकथा शोध केंद्र, भोपाल सहित देश के अलग-अलग राज्यों में 10 ईकाइयों का गठन : ●27 सितम्बर 2017 को लघुकथा शोध केंद्र भोपाल की स्थापना| ●26 नवम्बर 2018 को लघुकथा शोध केंद्र लखनऊ, संयोजक, श्रीमती अपर्णा गुप्ता शाखा की स्थापना। ●11 जनवरी 2019 को लघुकथा शोध केंद्र महेश्वर शाखा, संयोजक, श्री विजय जोशी की स्थापना। ●3 मार्च 2019 को लघुकथा शोध केंद्र दिल्ली शाखा, संयोजक, श्रीमती अंजू खरबंदा की स्थापना। ●19 जनवरी 2020 को लघुकथा शोध केंद्र खंडवा, संयोजक, श्री गोविन्द शर्मा शाखा की स्थापना। ●15 मार्च 2020 को लघुकथा शोध केंद्र जबलपुर शाखा, संयोजक, श्री पवन जैन की स्थापना। ●17 अप्रैल 2021 लघुकथा शोध केंद्र, भोपाल, शाखा अहमदनगर, महाराष्ट्र, संयोजक-ऋचा शर्मा की स्थापना ●25 सितम्बर 2021 लघुकथा शोध केंद्र बुरहानपुर शाखा, संयोजक, श्री संतोष परिहार की स्थापना ●5 फ़रवरी 2022 लघुकथा शोध केंद्र रीवा शाखा, संयोजक, श्रीमती सुषमा कर्चुली की स्थापना ●लघुकथा शोध केंद्र, भोपाल, शाखा - रतलाम, संयोजक, डॉ. शोभना तिवारी, अध्यक्ष, शिवमंगल सिंह सुमन स्मृति शोध संस्थान,रतलाम की स्थापना(प्रस्तावित) ●लघुकथा शोध केंद्र, भोपाल, शाखा – गोलाघाट, असम, संयोजक, अनूपा हरबोला की स्थापना (प्रस्तावित) सम्मान ●साहित्य शिरोमणि सम्मान, भोपाल 2015 ●इमिनेंट राईटर एंड सोशल एक्टिविस्ट, दिल्ली 2015 ●श्रीमती धनवती देवी पूरनचन्द्र स्मृति सम्मान,भोपाल 2015 ●लघुकथा-सम्मान, अखिल भारतीय प्रगतिशील मंच,पटना 2016 ●क्षितिज लघुकथा सम्मान 2018 ●तथागत सृजन सम्मान, सिद्धार्थ नगर, उ.प्र. 2016 ●वागवाधीश सम्मान, अशोक नगर,गुना 2017 ●गणेश शंकर पत्रकारिता सम्मान.भोपाल 2016 ●शब्द-शक्ति सम्मान,भोपाल 2016 ●श्रीमती महादेवी कौशिक सम्मान (पथ का चुनाव, एकल लघुकथा संग्रह) प्रथम पुरस्कार सिरसा, 2017 ●राष्ट्रीय गौरव सम्मान चित्तौड़गढ़ 2018 ●श्री आशीष चन्द्र शुल्क (हिंदी मित्र) सम्मान, 2017 गहमर, तेजस्विनी सम्मान,गहमर. 2017 ●डॉ.मनुमुक्त 'मानव' लघुकथा गौरव सम्मान 2018 ●साहित्य शिरोमणि पंजाब कला साहित्य अकादमी सम्मान, जालंधर 2018 ●क्षितिज लघुकथा समग्र सम्मान, इंदौर 2019 ●लघुकथा रत्न सम्मान (हेमंत फाउंडेशन, मुम्बई) 2020 ●सारस्वत सम्मान, श्रीकृष्ण सरल स्मृति सरल काव्यांजलि साहित्यिक संस्था, उज्जैन 2020 ●अभिनव कला शिल्पी सम्मान 2020 ●नारी उत्कृष्टता सम्मान 2021, रबीन्द्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय महिला विकास प्रकोष्ठ ●डॉ. सूबेदार सिंह 'अवनिज' स्मृति' किस्सा कोताह 'लघुकथा' पुरस्कार 2020, ग्वालियर ●सत्याशा लघुकथा रत्न अलंकरण, विश्व वाणी हिंदी संस्थान अभियान जबलपुर 2021 ●रत्नावली शिखर सम्मान, तुलसी साहित्य अकादमी, मध्यप्रदेश 2021 ●डॉ. बाबूराव गुजरे स्मृति सम्मान- 2021 दुष्यंत कुमार स्मारक पाण्डुलिपि संग्रहालय ●साहित्य श्री भारती आलोचना सम्मान, दिल्ली 2022 ●सुभद्रा कुमारी चौहान सम्मान, इंदौर 2022 वेबसाइट की संस्थापक : 1. लघुकथा कोश डॉट कॉम, 2. लघुकथा वृत्त डॉट पेज 'लघुकथा के परिंदे' फेसबुक मंच की संचालिका। https://www.facebook.com/groups/laghukthakeparinde संपर्क : 54-A, सेक्टर-C, बंजारी कोलार रोड भोपाल-462042 मो.९५७५४६५१४७ ईमेल: रॉय.कन्ट६९@जीमेल.कॉम

समीक्षा
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    Rajjo Rani
    21 एप्रिल 2021
    ठीक ऐसा ही मेरे गांव में भी हुआ है। मैं तो रोने ही लगी थी।
  • author
    हर्ष व्यास
    11 नोव्हेंबर 2019
    इसे कहते हैं समाज का शीशा बनना। खूबसूरत।
  • author
    Manish Arora
    27 फेब्रुवारी 2020
    👌
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    Rajjo Rani
    21 एप्रिल 2021
    ठीक ऐसा ही मेरे गांव में भी हुआ है। मैं तो रोने ही लगी थी।
  • author
    हर्ष व्यास
    11 नोव्हेंबर 2019
    इसे कहते हैं समाज का शीशा बनना। खूबसूरत।
  • author
    Manish Arora
    27 फेब्रुवारी 2020
    👌