pratilipi-logo प्रतिलिपि
हिन्दी

नवाबों की पसंद

3.7
2402

गौरव बहुत ही बुद्धिमान लड़का था, पूरे गाँव वालों के आंख का तारा था , कारण था... गौरव सरल स्वभाव, पढ़ने लिखने में भी पूरे स्कूल में नम्बर एक था, पैसे की कोई कमी नही थी घर में, पिता जी जाने -माने जमीदार ...

अभी पढ़ें
लेखक के बारे में
समीक्षा
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    Aakash's Effect
    12 July 2018
    पुराना कथानक। कोई नवीनता भी नही प्रस्तुतिकरण में। पुराने कथानक को यदि नए प्रस्तुतिकरण के साथ प्रस्तुत किया जाए तो ही बेहतर लगता है। ये कहानी सैकड़ों बार पढ़ी जा चुकी है कभी मुख्य पात्र गौरव होता है तो कभी सौरव। आप में काफी संभावनाएं हैं इससे बेहतर लिख सकते हैं आप। प्रयास कीजिये।
  • author
    sukhmangal singh
    17 July 2018
    बहुत सही आपने कहा संगत का प्रभाव सुन्दर और खराब ,संगत से ही !
  • author
    Vanita Handa
    11 July 2018
    बहुत ही मार्मिक
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    Aakash's Effect
    12 July 2018
    पुराना कथानक। कोई नवीनता भी नही प्रस्तुतिकरण में। पुराने कथानक को यदि नए प्रस्तुतिकरण के साथ प्रस्तुत किया जाए तो ही बेहतर लगता है। ये कहानी सैकड़ों बार पढ़ी जा चुकी है कभी मुख्य पात्र गौरव होता है तो कभी सौरव। आप में काफी संभावनाएं हैं इससे बेहतर लिख सकते हैं आप। प्रयास कीजिये।
  • author
    sukhmangal singh
    17 July 2018
    बहुत सही आपने कहा संगत का प्रभाव सुन्दर और खराब ,संगत से ही !
  • author
    Vanita Handa
    11 July 2018
    बहुत ही मार्मिक