pratilipi-logo प्रतिलिपि
हिन्दी

प्‍यार --

3.8
19136

"तुम तो कहती थीं कि इस दुनियाँ में तुम सबसे ज्यादा मुझसे प्यार करती हो।" पति के लहज़े में शिक़ायत थी। "वक्त के साथ-साथ इंसान बदलता है, और उसके प्यार का दायरा भी ! " पत्नी ने पति को टका सा जवाब दिया। ...

अभी पढ़ें
लेखक के बारे में

कुछ ख़ास नहीं दोस्तों मेरे वजूद में, बस एक 'आम आदमी' की सारी 'खासियतें' मुझमे जज्ब हैं...

समीक्षा
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    सीमा सिंह
    05 अक्टूबर 2016
    बहुत खूबसूरत कथा, ये ऐसे रिश्तें है जिन में सर्वाधिक प्रेम छुपा है। एक पुरुष के जीवन में माँ पत्नी और पुत्री तीन ऐसे रिश्तें जो उसको बांधे रहते हैं। बहुत बधाई ।
  • author
    13 अक्टूबर 2016
    बहुत सुन्दर भाव। सुन्दर छोटी पर भावपूर्ण रचना के लिए आपको बधाई।
  • author
    Reni Choudhary
    26 अप्रैल 2017
    successful story
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    सीमा सिंह
    05 अक्टूबर 2016
    बहुत खूबसूरत कथा, ये ऐसे रिश्तें है जिन में सर्वाधिक प्रेम छुपा है। एक पुरुष के जीवन में माँ पत्नी और पुत्री तीन ऐसे रिश्तें जो उसको बांधे रहते हैं। बहुत बधाई ।
  • author
    13 अक्टूबर 2016
    बहुत सुन्दर भाव। सुन्दर छोटी पर भावपूर्ण रचना के लिए आपको बधाई।
  • author
    Reni Choudhary
    26 अप्रैल 2017
    successful story