pratilipi-logo प्रतिलिपि
हिन्दी

पति से झगड़ा

5
34

कल 'बीवी से झगड़ा' आज 'पति से झगड़ा' ! झगड़ा करवाना मकसद नहीं है अपना पर मनोरंजन तो है तगड़ा !!

अभी पढ़ें
लेखक के बारे में
author
हरि ओम शर्मा

रिटायर्ड बैंकर हास्य, और चिंतन

समीक्षा
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    Jyoti Malviya
    08 ਜੂਨ 2020
    क्या बात है सर जी, दो दिन से आप सिर्फ झगड़ने के ही फायदे गिना रहे हैं। झगड़ा चाहे पति का हो या पत्नी का बात तो एक ही हुई। किसी के यहां गलती न होने पर भी पति देव माफी मांगते हैं तो किसी के यहां पत्नी। मेरा तो झगड़े से आज तक कोई फायदा नहीं हुआ। वैसे पढ़कर मजा आ गया 👌👌👌👌
  • author
    Rajni Hada
    08 ਜੂਨ 2020
    अहा ! सर जी, लिखा तो बहुत बढ़िया.. लेकिन दांव उल्टा ही पड़ गया। पतिदेव आपकी पिछली रचना पढ़ाई चुके थे.. झगड़ा होते ही वे मित्र के घर फूट लिए . . मेरे phone का चार्जर भी साथ ले गए 😢
  • author
    अंजलि
    08 ਜੂਨ 2020
    ये उतना दमदार नहीं रहा आदरणीय सर जी आप अपने दोनों लेख की खुद तुलना कर ले... सादर प्रणाम 🙏🙏
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    Jyoti Malviya
    08 ਜੂਨ 2020
    क्या बात है सर जी, दो दिन से आप सिर्फ झगड़ने के ही फायदे गिना रहे हैं। झगड़ा चाहे पति का हो या पत्नी का बात तो एक ही हुई। किसी के यहां गलती न होने पर भी पति देव माफी मांगते हैं तो किसी के यहां पत्नी। मेरा तो झगड़े से आज तक कोई फायदा नहीं हुआ। वैसे पढ़कर मजा आ गया 👌👌👌👌
  • author
    Rajni Hada
    08 ਜੂਨ 2020
    अहा ! सर जी, लिखा तो बहुत बढ़िया.. लेकिन दांव उल्टा ही पड़ गया। पतिदेव आपकी पिछली रचना पढ़ाई चुके थे.. झगड़ा होते ही वे मित्र के घर फूट लिए . . मेरे phone का चार्जर भी साथ ले गए 😢
  • author
    अंजलि
    08 ਜੂਨ 2020
    ये उतना दमदार नहीं रहा आदरणीय सर जी आप अपने दोनों लेख की खुद तुलना कर ले... सादर प्रणाम 🙏🙏