pratilipi-logo प्रतिलिपि
हिन्दी

बचपन और जवानी

4.2
8078

बचपन एक ऐसी अवस्था है जिस पर लिखने को सभी के पास बहुत कुछ होता है और हर एक चाहता है के वो अपने बचपन को कागज़ का रूप जरूर दे जिससे वो पड़ा जा सके. क्यूंकि सभी चाहते है के की उनकी कहानी भी पड़ी जा ...

अभी पढ़ें
लेखक के बारे में
author
दीपक कश्यप

एक बड़े शहर के छोटे से घर का छोटा सा लड़का। कंप्यूटर के क्षेत्र में स्तानकोत्तर है। लेकिन ज़िन्दगी ने लिखना सीखा दिया।

समीक्षा
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    शैली मोदी "paheli"
    27 ਜੂਨ 2017
    क्या बात हैं .. ऐसा ही मेरा भी था .. ज़ी पेन आती थी मेरे वक्त जिससे लिखाई में खुश्बू आती थी ..उसको पाना जैसे जिंदगी का आखिरी मकसद बन गया था , फिर भी दो साल लगे थे प्राप्त करने में ..
  • author
    Preeti Kour
    28 ਜੂਨ 2017
    Es story ko pdh kr bchpn ki yaad aagyi... Woh gali kai bcho kai sth khelna... Schl mai tchr sai danth khana... Home work pura na krkai jana or fit bhane lgana... Sch mai bchpn bht hi khubsurat hota hai... Kash koi asai time machine hoo jise hm apnai bchon mai wapis jaa skai
  • author
    Rohit Malik
    15 ਜਨਵਰੀ 2018
    aww !! bhai topic bhot acha chuna,,,thodi si or lambi likh sakte the.
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    शैली मोदी "paheli"
    27 ਜੂਨ 2017
    क्या बात हैं .. ऐसा ही मेरा भी था .. ज़ी पेन आती थी मेरे वक्त जिससे लिखाई में खुश्बू आती थी ..उसको पाना जैसे जिंदगी का आखिरी मकसद बन गया था , फिर भी दो साल लगे थे प्राप्त करने में ..
  • author
    Preeti Kour
    28 ਜੂਨ 2017
    Es story ko pdh kr bchpn ki yaad aagyi... Woh gali kai bcho kai sth khelna... Schl mai tchr sai danth khana... Home work pura na krkai jana or fit bhane lgana... Sch mai bchpn bht hi khubsurat hota hai... Kash koi asai time machine hoo jise hm apnai bchon mai wapis jaa skai
  • author
    Rohit Malik
    15 ਜਨਵਰੀ 2018
    aww !! bhai topic bhot acha chuna,,,thodi si or lambi likh sakte the.