pratilipi-logo प्रतिलिपि
हिन्दी

अनुकृति नेक्स्ट

4.7
12181

अनुकृति स्थिति और अपने सामने बैठे शख्स को समझने की कोशिश कर रही थी| एक बहुत बड़े लेखक का इंटरव्यू लेना ऐसा काम नहीं जो उसे प्रतिदिन करने को मिले| देवऋषि वशिष्ठ अपने समय के सबसे कामयाब पल्प फिक्शन ...

अभी पढ़ें
लेखक के बारे में
author
Nitin Mishra

●Author ●Novelist ●Storyteller

समीक्षा
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    Ankit Maharshi
    17 सप्टेंबर 2018
    हिंदी पल्प राइटर्स में मेरे पसनिन्दा केशव पंडित , वेदप्रकाश शर्मा और सुरेंद्र मोहन पाठक थे। जबसे इनकी books आनी बन्द हुई है तब से ऐसी सस्पेंस भरी कहानियों को misss कर रहा था। अब इस इलेक्ट्रॉनिक प्लेटफॉर्म पर आप उनकी कमी पूरी कर रहे हो। आप उनका अडवांस्ड 2.0 वर्जन हो। बधाई स्वीकार करें।
  • author
    Aditya Khandelwal
    21 सप्टेंबर 2018
    नितिन भाई आपकी हर कहानी अच्छी होती है लेकिन रैना मिडनाइट कहानी बहुत अच्छी थी। बस आपसे ये अनुरोध की एक हॉरर कहानी लिखे
  • author
    Pragya Kapoor
    17 सप्टेंबर 2018
    I like the way you portray writers in your story...a reflection of your persona I guess...minus the Faustian bargain part😀 You don't need devil on ur side to succeed, you've got every bit of it to make it on your own. ❤❤💯💯🔥🔥😘😘
  • author
    आपकी रेटिंग

  • कुल टिप्पणी
  • author
    Ankit Maharshi
    17 सप्टेंबर 2018
    हिंदी पल्प राइटर्स में मेरे पसनिन्दा केशव पंडित , वेदप्रकाश शर्मा और सुरेंद्र मोहन पाठक थे। जबसे इनकी books आनी बन्द हुई है तब से ऐसी सस्पेंस भरी कहानियों को misss कर रहा था। अब इस इलेक्ट्रॉनिक प्लेटफॉर्म पर आप उनकी कमी पूरी कर रहे हो। आप उनका अडवांस्ड 2.0 वर्जन हो। बधाई स्वीकार करें।
  • author
    Aditya Khandelwal
    21 सप्टेंबर 2018
    नितिन भाई आपकी हर कहानी अच्छी होती है लेकिन रैना मिडनाइट कहानी बहुत अच्छी थी। बस आपसे ये अनुरोध की एक हॉरर कहानी लिखे
  • author
    Pragya Kapoor
    17 सप्टेंबर 2018
    I like the way you portray writers in your story...a reflection of your persona I guess...minus the Faustian bargain part😀 You don't need devil on ur side to succeed, you've got every bit of it to make it on your own. ❤❤💯💯🔥🔥😘😘